Tuesday, May 21, 2024
Homeत्यौहार2024 mein chhath puja kitne tarikh ko hai ( नहाये खाये...

2024 mein chhath puja kitne tarikh ko hai ( नहाये खाये ,खरना लोहंडा , samagri )

2024 mein chhath puja kitne tarikh ko hai | chhath puja samagri 2024 | chath puja ke gaana | Chhath puja ke Geet 2024

आप भी जानना चाहते है कि छठ पूजा कब है तो आपको बता दे कि 2024 में छठ पूजा अक्टूबर महीने के 30 तारीख से 02 नंबर तक है । पूरी जानकारी नीचे दिया गया है ।

लोक आस्था का पर्व छठ पर्व बिहार झारखंड से शुरू होकर अब पूरे देश में मनाया जा रहा है । जिस प्रकार सम्पूर्ण भारत में बंगाल दुर्गापूजा , असम बिहू , तैमिलनाडू पौंगल , पंजाब लोहड़ी और ओडिशा जगन्नाथपुरी रथयात्रा के लिए देश विदेश में जाना जाता है । उसी प्रकार बिहार और बिहारियों का लोग आस्था का यह पर्व पूरे विश्व मे मनाया जा रहा है ।

यैसा कहा जाने लगा है कि जहाँ बिहारी — वहां छठ … भला कैसे नहीं ।

छठ पूजा 2024 में कितने तारीख को है | chhath puja 2024 date

कार्तिक छठ पूजा कब है 2024

  • 17नवंबर 2024 – नहाये खाये
  • 18 नवंबर 2023 – खरना लोहंडा
  • 19 नंबर 2023 – संध्या अर्घ्य
  • 20 नंबर 2023 – सूर्योदय/ ऊषा अर्घ्य और पारण

Chhath puja parv मुख्य रूप से up , bihar और झारखंड के लोग मानते है । बिहार के मुख्य त्यौहार में से एक है ।

chhath puja 2024 date in bihar के लिये भी यही है | यह पूरे देश के लिये है । इसमें कोई बदलाव या परिवर्तन नहीं होता ।

Chhath puja me kya hai har ek din ka mahatw | छठ पूजा में क्या है हर एक दिन का महत्व

छठ पूजा में नहाय खाय का महत्व

छठ पूजा की शुरुआत नहाय खाय से होती है इस दिन भक्त नदी के पवित्र जल में स्नान कर के कुछ जल / पानी एक पत्र में ले कर घर आते है । उसी पानी से भोजन और अन्य सामग्री बनाई जाती है । घर के सभी सदस्य व्रती के भोजन करने के पश्चात ही भोजन करते है ।

भोजन के रूप में इस दिन कद्दू / लोकी , दाल और चावल ग्रहण दिया जाता है ।

छठ पूजा लोहड़ और खरना ( दूसरे दिन ) | lohanda kab hai 2024

लोहड़ कब है 2024 में :- छठ पूजा का दूसरा दिन लोहड़ और खरना होता है । इस दिन व्रतधारी पूरे दिन उपवास करके के शाम को भोजन करते है । इसे खरना कहा जाता है । व्रतधारी भोजन करने के बाद वे अगले 36 घंटों के बिना पानी पिए उपवास करते है ।

खरना का प्रसाद लेने के लिए आस पास के साथ दोस्तो और सगे संबंधियों को भी बुलाया जाता है । प्रसाद के रूप में रसिओ खीर , पूरी और फल चढ़ाया जाता है ।

छठ पूजा संध्या अर्ध्य (तीसरा दिन )

तीसरा दिन कार्तिक शुक्ल षष्ठी के दिन में प्रसाद बनाया जाता है । प्रसाद के रूप में ठेकुआ , जिसे कई क्षेत्रों में टिकरी भी कहा जाता है , के अलावा चावल के लड़ुआ आदि । इसके साथ प्रसाद के रूप में केला, सेव , अमरूद और कई प्रकार के फल शामिल होते है ।

सान्ध्य के समय नदी किनारे जा कर डूबते सूर्य को अर्ध्य दिया जाता है ।

छठ पूजा में उषा अर्ध्य का महत्व

चौथा दिन कार्तिक शुक्ल सप्तमी तिथि के सुबह उगते हुए सूर्य को अर्ध्य दिया जाता है । जहाँ पहले दिन सान्ध्य के समय दिया गये थे । पुनः पिछले शाम प्रक्रिया की पुनरावृत्ति होती है । छठ माता से अपने परिवार की शुख शांति और समृद्धि के लिए वर मांगा जाता है । उसके बाद व्रती प्रसाद खा कर वर्त खोलते है । प्रसाद का वितरण किया जाता है।

Chhath Puja History in hindi | छठ पूजा का इतिहास

छठ पूजा सूर्य को समर्पित है । माना जाता है कि छठ पूजा का पर्व प्राचीन काल में भी मनाया जाता है । ऋग्वेद में इसका वर्णन मिलता है । जब ऋषियों ने भोजन को पूजा में बनाये जाने वाले विधि से बनाकर खाया तो उसका स्वाद बहुत अच्छा और सभी रोगों को दूर कर दिया था।

जब भगवान राम 14 वर्षों के बाद घर लौटे तो माता सीता ने सूर्य की पूजा की थी इस समय से यह महत्वपूर्ण त्यौहार में शामिल हो गया ।

यैसा माना जाता है कि अंग देश के राजा कर्ण सूर्य देव की पूजा किया करते थे । तब से छठ पूजा की शुरुआत हुई ।

Chhath puja ke Geet 2024 | छठ पूजा के गीत 2024

छठ पूजा के शुरुआती दिनों से ही छठ पूजा गीत कानों में सुनाई देने लगती है । जो एक अलग ही महसूस करती है । बहुत सारे गीत है जो अक्सर सुनने को मिलता है । new chhath puja song 2024 download करने के लिए नीचे लिंक दिया गया है ।

chhath puja hindi geet

chhath puja में geet गाय जाते है । कई गीत हिंदी में भी मिले है । जो लोगों को कभी पसंद भी है और इसे छठ पूजा के समय बजाते जरूर है ।

Sharda Sinha Chhath puja Geet

Sharda Sinha
Kelwa Ke Paat Par
Click here
Sharda Sinha
Hey Chhathi maiya
Click here
शारदा सिन्हा
और
अनुराधा पौडवाल
Special
Click here
Sharda Sinha chhath geet

छठ पुजा गाना 2024 डाउनलोड

छठ पूजा गाना 2024 डाऊनलोड करने के लिये आपको नीचे दीये गाय लिंक पर क्लिक करना होगा ।

chhath puja hindi geetclick here
Chhath puja bhojpuri geet Click here
chhath puja latest songclick here
new chhath puja song 2023click here

Chhath puja image 2024 | छठ पूजा फ़ोटो 2024

छठ पूजा फ़ोटो डाऊनलोड करने के लिए नीचे दिए गए लिंक को क्लिक करें । आज कल लोग सोशल मीडिया पर फोटो शेयर करते हैं और व्हाट्सएप स्टेटस में भी लगाते हैं । इसके लिए आप फोटो डाउनलोड कर सकते हैं मुझे दिए गए लिंक से । chhath puja image download

छठ पूजा में क्या-क्या नहीं करना चाहिए ।

  • लाल चीजें नहीं खाना चाहिए ।
  • मसूर के दाल ,बैगन नहीं खाना होता है ।
  • लहसुन और प्याज नहीं खाना चाहिए ।
  • जो chhath puja करते है उनको शाकाहारी भोजन करना होता है ।
  • अकसर देखा गया है जो नहीं छठ पूजा कर रहे होते है वो भी नहीं खाते है ।

chhath puja greetings

लोग अपनी भावनाएं एक दूसरे के साथ शेयर करने के लिये ग्रीटिंग्स का उपयोग करने लगे । भाग दौड़ की दुनिया में लोगो को मिलने जुलने का समय कम ही मिल रहा है । जिसके कारण ग्रीटिंग्स भेज कर अपनी बात को पहुचने का काम कर रहे है ।

स्मार्ट फोन का जैसे जैसे बढ़ाते जा रहा है । chhath puja greetings भेजने का प्रचल भी अधिक होते जा रहा है । सोशल मीडिया से लेकर व्हाट्सप्प स्टेटस तक इसकी जरूरत होती है ।

2024 mein chhath puja पर कोरोना का प्रभाव

2024 में छठ पूजा पर कोरोना का प्रभाव बहुत ही कम हो गया है । यू कहे कि नहीं पड़ा है । कुछ भी इसपर प्रभाव । आसानी से आप अपनी पूजा को सम्पन्न कर सकते है ।

chhath puja samagri

छठ पूजा सामग्री की बात करे तो आपको बता दु की इसमे अधिकतर फल है । जिसकी संख्या सबसे अधिक है और जो भी जरूरी सामग्री है उसकी विस्तार से जानकरी नीचे दिया है ।

  • फल ( नारियल , निम्बू , इक्क , सेव , केला , संतरा , अनानस , सीता फल , कच्चा अदरख , कच्चा हल्दी , पानी वाला सिघाड़ा )
  • ठेकुआ घी का
  • अगरबत्ती , हुमाद
  • इक्क का पत्ता
  • केले का पता
  • आम का पता

Faq

Qs :- 2024 में छठ पूजा कितने तारीख को है ?

Ans :- 2024 में 17 नवंबर से शुरू होकर 20 नवंबर तक होगी ।

Qs :- क्या कुमारी कन्या भी छठ पूजा का व्रत कर सकती है ?

Ans :- नहीं , हिन्दू धार्मिक मान्यताओं के अनुसार कुमारी कन्या छठ पूजा का व्रत नहीं कर सकती है ।

अन्य पढ़े

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments